अंतर्राष्ट्रीय व्यापार पर आधारित 40 वस्तुनिष्ठ प्रश्न | International trade se related 40 MCQ in hindi

अंतर्राष्ट्रीय व्यापार संबंधी वैकल्पिक प्रश्नोत्तरी | अंतर्राष्ट्रीय व्यापार पर आधारित 40 MCQ इन हिंदी | अंतर्राष्ट्रीय व्यापार पर आधारित ऑब्जेक्टिव प्रश्न इन हिंदी | अंतर्राष्ट्रीय व्यापार पर 40 वैकल्पिक प्रश्न

इस अंक में आइए हम अंतर्राष्ट्रीय व्यापार पर आधारित ऑब्जेक्टिव प्रश्नोत्तरी का अध्ययन करते हैं। हमें उम्मीद है इस अंक में दिए गए अंतर्राष्ट्रीय व्यापार पर आधारित वैकल्पिक प्रश्न (Antrrashtriya vyapar par adharit vaikalpik prashna) आपके अध्ययन के लिए अवश्य सहायक साबित होंगे।

अंतर्राष्ट्रीय व्यापार संबंधी वैकल्पिक प्रश्नोत्तरी, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार पर आधारित 35 MCQ इन हिंदी, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार पर आधारित ऑब्जेक्टिव प्रश्न इन हिंदी, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार पर 35 वैकल्पिक प्रश्न


प्रश्न 1 : व्यावहारिक दृष्टि से क्रयशक्ति समता सिद्धान्त टकसाली सिद्धान्त पर एक - 
(a) सुधार है
(b) प्रहार है
(c) वस्तु स्थिति को समझने का तरीक़ा है
(d) बोझ है

Ans : (a)


प्रश्न 2 : स्वर्णमान वाले देशों की मुद्राओं की विनिमय दरों के उच्चावचन की सीमाएं निर्धारित होती हैं - 
(a) उनके स्वर्ण के मूल्यों के बीच
(b) स्वर्ण निर्यात तथा आयात बिन्दुओं के बीच
(c) रजत तथा स्वर्ण की मात्रा पर
(d) उपर्युक्त कोई नहीं 

Ans : (b)


प्रश्न 3 : क्रयशक्ति समता सिद्धान्त के अनुसार विनिमय दर किस देश के पक्ष में होगी। यदि जांच वर्ष में A देश का सूचकांक 150, हो जाए और B देश का 200 -
(a) A देश के
(b) B देश के
(c) दोनों के 
(d) दोनों में किसी के नहीं।

Ans : (a)


प्रश्न 4 : हेक्सचर ओहलिन प्रमेय की आलोचना के सन्दर्भ में कथन अंकित कीजिए -
(a) हेक्सचर - ओहलिन प्रमेय को लियोन्टिफ ने झूठा सिद्ध किया 
(b) हैबरलर ने इसे आंशिक विश्लेषण बताया
(c) ओहलिन ने तुलनात्मक फायदों के कारणों पर प्रकाश नहीं डाला 
(d) हेक्सचर -ओहलिन मॉडल स्थैतिक आर्थिक मॉडल है।

Ans : (c)


प्रश्न 5 :  वास्तविक जगत में उत्पादन सम्भावना वक्र-
(a) एक ऋणात्मक ढाल वाली सीधी रेखा होता है
(b) मूलबिन्दु से नतोदर होता है 
(c) मूलबिन्दु से उन्नतोदर होता है।
(d( X- अक्ष के समानान्तर होता है । 

Ans : (b)


प्रश्न 6 : अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार के प्रभावों के सन्दर्भ में असंगत कथन अंकित करें-
(a) आर्थिक सहयोग बढ़ता है
(b) सांस्कृतिक सहयोग बढ़ता है
(c) राजनीतिक हस्तक्षेप बढ़ता है 
(d) विदेशों पर निर्भरता बढ़ती हैवर्ड

Ans : (c)



प्रश्न 7 : हेक्सचर - ओहलिन मॉडल को 2 x 2 x 2 कहने का अर्थ है-
(a) इसके लेखक दो हैं, दो देशों की बात कही गई और दो मुद्राओं के बीच विनिमय होता है
(b) दो देश/दो वस्तु/एवं दो साधन
(c) दो देश/दो प्रकार की मुद्रा/एवं दो प्रकार की व्यापार की शर्तें
(d) दो लेखक/दो कीमत/दो लागतें 

Ans : (b)


प्रश्न 8 : भौतिक मापदण्ड में एक देश दूसरे देश की तुलना में तब पूंजी प्रधान होता है जबकि- 
(a) पूंजी- श्रम अनुपात दूसरे देश से तुलनात्मक रूप से अधिक
(b) पूंजी - श्रम अनुपात तुलनात्मक रूप से कम हो
(c) पूंजी - श्रम अनुपात स्थिर हो
(d) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Ans : (a)


प्रश्न  9 : ओहलिन के मूल्य मापदण्ड के आधार पर एक पूंजी प्रधान देश तब होता है जबकि- 
(a) उस देश में पूंजी सस्ती हो
(b) उस देश में श्रम महंगा हो
(c)उक्त दोनों स्थितियां हों
(d) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Ans  : (c)


प्रश्न 10 : निम्न में से कौन सा उपाय भुगतान सन्तुलन के असाम्य को दूर कर सकता है?
(a) बचत का बजट
(b) मुद्रा का अधिमूल्यन
(c) विशेष बचत
(d) विलासिता वस्तुओं पर कर कम करना

Ans : (a)


प्रश्न 11 : हैबरलर के अनुसार बढ़ती लागत दशा के अन्तर्गत- 
(a) पूर्ण विशिष्टीकरण सम्भव है
(b) आंशिक विशिष्टीकरण सम्भव है
(c) उपर्युक्त दोनों सम्भव
(d) उपर्युक्त दोनों असम्भव

Ans : (b)


प्रश्न 12 : अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार का प्रतिष्ठित सिद्धान्त जाना जाता है-
(a) निरपेक्ष लागत लाभ सिद्धान्त
(b) तुलनात्मक लागत सिद्धान्त
(b) अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार का सामान्य सन्तुलन सिद्धान्त
(c) देय वक्र सिद्धान्त

Ans : (b)


प्रश्न 13 : रिकार्डो ने व्यापार से लाभ की शर्त निम्नांकित में से किस मान्यता के अन्तर्गत प्रस्तुत की है?
(a) व्यापार शर्त 1 : 1 है
(b) व्यापार शर्त 1 : 1.5 है
(c) व्यापार शर्त 1.5 : 1 है
(d) उपर्युक्त सभी दशाएं सम्भव

Ans : (a) 


प्रश्न 14 : "मूल्य का श्रम सिद्धान्त अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार के प्रतिष्ठित सिद्धान्त का आधार है।" इस मत का समर्थन किया गया-
(a) ओहलिन द्वारा
(b) हैबलर द्वारा 
(c) मार्शल द्वारा
(d) जे. एस. मिल द्वारा

Ans : (d)



प्रश्न  15 : सार्वजनिक व्ययों में कटौती से-
(a) भुगतान सन्तुलन विपक्ष में जाएगा 
(b) भुगतान सन्तुलन की विपक्षता कम होगी
(c) भुगतान सन्तुलन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा
(d) उपरोक्त सभी बातें सम्भव हैं

Ans : (b)


प्रश्न  16 : जब दो देशों में स्वर्ण मुद्राएं चलती हैं तो उनके बीच विनिमय दर निर्धारण की प्रक्रिया को-
(a) टकसाली समता (Mint Parity) कहते हैं
(b) क्रय शक्ति समता (Purchasing Power Parity) कहते हैं
(c) तुलनात्मक लागतों में अन्तर (Comparative Cost Difference) कहते हैं
(d) स्वर्ण समता मान (Gold Parity Standard) कहते हैं

Ans : (a)


प्रश्न 17 : अवमूल्यन का लाभ वही देश उठा सकता है- 
(a) जिसके पास निर्यात योग्य माल हो
(b) जिसके निर्यातों की मांग कीमत लोचदार हो
(c) जिसकी आयात कीमत लोचदार हो
(d) उपरोक्त सभी

Ans : (d)


प्रश्न 18 : निम्नलिखित में से किन मदों को कुछ भुगतान सन्तुलन शामिल किया जाता है-
(a) चालू खाता 
(b) पूंजी खाता 
(c) व्यापार सन्तुलन
(d) उपर्युक्त में से सभी 

Ans : (d)


प्रश्न 19 : निम्नलिखित मदों में से कौन - सी मद भुगतान सन्तुलन की दृश्य मद कहलाएगी- 
(a) विदेशियों द्वारा पूंजी निवेश
(b) जहाज का किराया
(c) वस्तुओं का निर्यात
(d) विदेशों में किया गया सरकारी व्यय

Ans : (c)


प्रश्न  20 : लचीली विनिमय दर प्रणाली के अन्तर्गत भुगतान सन्तुलन में असाम्य स्वतः ही सही हो सकता है-
(a) अवमूल्यन द्वारा
(b) मुद्रा की पूर्ति बढ़ाकर
(c) राष्ट्रीय आय को बढ़ाकर
(d) अतिमूल्यन द्वारा

Ans : (a)


प्रश्न 21 : यदि आयातों के लिए मांग की लोच इकाई से अधिक है, तब अवमूल्यन से आयातों की कीमतें-
(a) बढ़ेंगी
(b) घटेंगी 
(c) स्थिर रहेंगी
(d) उपर्युक्त सभी

Ans : (b)


प्रश्न 22 : भुगतान सन्तुलन के पूंजी खाते में दीर्घकालीन अन्तर्राष्ट्रीय पूंजी आवागमन को अंकित किया जाता है। निम्न में से कोई एक दीर्घकालीन अन्तर्राष्ट्रीय पूंजी आवागमन का भाग नहीं है- 
(a) सरकारी स्थानान्तरण भुगतान
(b) प्रत्यक्ष पूंजी विनियोजन
(c) पोर्टफोलियो निवेश (Portfolio Investments)
(d) एक वर्ष या उससे अधिक समय के अन्तर्राष्ट्रीय ऋण

Ans : (a)  



प्रश्न 23 : लचीली विनिमय प्रणाली में विनिमय दर का निर्धारण होता है—
(a) देश की राजकोषीय नीति द्वारा
(b) देश के मौद्रिक अधिकारी द्वारा
(c) विदेशी मुद्रा बाजार में मांग और पूर्ति की शक्तियों द्वारा 
(d) उपर्युक्त कोई भी नहीं

Ans : (c)


प्रश्न 24 : परिवर्तनशील विनिमय दर के अन्तर्गत भुगतान सन्तुलन में स्वतः समायोजन प्रक्रिया निम्न द्वारा आ सकती है-
(a) विनिमय दर हास (Depreciation) द्वारा
(b) विनिमय दर अवमूल्यन (Devaluation) द्वारा
(c) प्रशुल्क तथा गैर प्रशुल्क प्रतिबन्धों द्वारा
(d) विनिमय दर नियन्त्रण के द्वारा 

Ans : (a)


प्रश्न 25 : अन्तर्राष्ट्रीय तरलता का निर्धारण किया जाता है- (a) विकसित देशों की मुद्राओं में
(b) अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की मुद्रा व्यवस्था में-
(c) स्वर्ण में 
(d) टोकरी मुद्राओं में 

Ans : (d)


प्रश्र 26 : वर्तमान में विनिमय दरों पर अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष का-
(a) पूर्ण नियन्त्रण है
(b) कोई नियन्त्रण नहीं है
(c) केवल निर्धारण का अधिकार है
(d) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Ans : (b)


प्रश्न 27 : अवमूल्यन नीति तभी सफल हो सकती है जबकि अवमूल्यन करने वाले देश को- 
(a) अन्य देशों का सहयोग मिले
(b) घरेलू कीमत - स्तर समान रहे
(c) उपर्युक्त दोनों
(d) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Ans : (c)


प्रश्न  28 : सकल वस्तु विनिमय व्यापार शर्त (Gross barter TOT) की वृद्धि व्यापार शर्त को- 
(a) अनुकूल बनाती है
(b) प्रतिकूल बनाती है
(c) प्रभावित नहीं करती
(d) उपर्युक्त तीनों असत्य

Ans : (a)


प्रश्र  29 : हैरोड के अनुसार अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार को अधिकतम करने के लिए उत्पादक को उत्पादन उस बिन्दु तक बढ़ाना चाहिए, जहां वस्तु की मौद्रिक लागत- 
(a) उसकी कीमत से कम हो जाए
(b) उसकी कीमत से अधिक हो जाए
(c) कीमत के बराबर हो जाए
(d) उपर्युक्त तीनों दशाएं सम्भव

Ans : (c)


प्रश्न 30 : व्यापार की शर्तों को प्रभावित करने वाला घटक है- 
(a) मांग एवं पूर्ति की लोच
(b) स्थानापन्न वस्तुओं की उपलब्धता
(c) प्रशुल्क नीति
(d) उपर्युक्त सभी 

Ans : (d)

 

प्रश्न 31 : क्रयशक्ति समता सिद्धान्त किसके नाम से प्रसिद्ध है- 
(a) गुस्ताव कैसल
(b) कीन्स
(c) सेम्युलसन 
(d) हिक्स

Ans : (a)


प्रश्र 32 : देशी विनिमय की मांग और पूर्ति पर विदेशी मुद्रा का प्रबन्धन किया जाता है- 
(a) सरकारी कोष से
(b) पूंजी बाजार से
(c) मुद्रा बाजार से
(d) विदेशी मुद्रा भण्डार निधि से

Ans : (d)


प्रश्न  33 : मुक्त व्यापार की नीति उसी समय वैध होती है जब वस्तुओं एवं साधनों के बाजारों में - 
(a) पूर्ण एकाधिकार हो
(b) अपूर्ण प्रतियोगिता हो
(c) पूर्ण प्रतियोगिता हो
(d) उपर्युक्त में से सभी

Ans : (c)


प्रश्न 34 : आयातों को नियन्त्रित करने के लिए किस विधि का प्रयोग किया जा सकता है?
(a) बिक्री कर
(b) आयकर
(c) हीनार्थ व्यवस्था
(d) कोटा प्रणाली (अभ्यंश)

Ans : (d)


प्रश्न 35 : निम्नलिखित में आर्थिक एकीकरण का रूप कौनसा है?
(a) मुक्त व्यापार क्षेत्र
(b) साझा बाजार
(c) कस्टम यूनियन 
(d) उपर्युक्त से से कोई भी

Ans : (d)


प्रश्न  36 : स्थिर अवसर लागतों के अन्तर्गत उत्पादन सम्भावना वक्र होती है-
(a) एक सरल रेखा
(b) एक वक्र रेखा
(c) एक लम्ब रेखा
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं

Ans : (a)



प्रश्र 37 : परम अनुग्रहीत राष्ट्रीय व्यवहार (Most Favoured Nation Treatment) सम्बन्धित है-
(a) कुछ देशों को व्यापार क्षेत्र में अधिक सम्मान देना
(b) कुछ देशों के द्वारा प्रत्येक को अधिक सम्मान देना
(c) प्रत्येक देश को प्रत्येक देश द्वारा परम अनुग्रहीत राष्ट्र व्यवहार
(d) सभी देशों को सभी देशों द्वारा विशेष व्यापार अधिकार

Ans : (c)


प्रश्न 38 : जब कोई देश अनेक प्रकार के आयातों, निर्यातों तथा पूंजी हस्तान्तरणों में से प्रत्येक के लिए अलग अलग विनिमय दरें स्थापित करता है तो, इसे कहते हैं-
(a) बहु विनिमय दरें
(b) विनिमय दरें
(c) ऊपर कीलना
(d) नीचे कीलना

Ans : (a)


प्रश्न 39 : जैकब वाइनर ने अपनी किस पुस्तक में मूल्य के वास्तविक लागत सिद्धान्त का समर्थन किया है?
(a) Leisure and International Trade Economics
(b) Trade and Structure
(c) The Theory of International Trade
(d) Studies in the Theory of International Trade

Ans : (d)


प्रश्र 40 : मूल्य का श्रम सिद्धांत की मान्यता है- 
(a) समान श्रम इकाइयां
(b) असमान श्रम इकाइयां
(c) असमान श्रम का मूल्य
(d) वस्तु मूल्य में अस्थिरता

Ans : (a)


Some more topics :




Reactions

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ